Porcupyn's Blog

July 8, 2014

Songs of the 1970s – my favourites – 27

Filed under: Music — Porcupyn @ 11:59 pm

aap kee mehkee huwee – lyrics from giitaayan

य: आप की महकी हुई ज़ुल्फ़ को कहते हैं घटा
य: आप की मदभरी आँखों को कँवल कहते हैं
ल: मैं तो कुछ भी नहीं तुम को हसीं लगती हूँ
ल: इस को चाहत भरी नज़रों का अमल कहते हैं

य: एक हम ही नहीं सब देखने वाले तुम को
य: सन्ग-ए-मर्मर पे लिखी शोख़ ग़ज़ल कहते हैं
ल: ऐसी बातें न करो जिन का यक़ीं मुश्किल हो
ल: ऐसी तारीफ़ को नियात का ख़लल कहते हैं

य: मेरी तक़दीर कि तुम ने मुझे अपना समझा
ल: मेरी तक़दीर कि तुम ने मुझे अपना समझा
य, ल: इस को सदियों की तमन्नाओं का फल कहते हैं – 2

Leave a Comment »

No comments yet.

RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: