Porcupyn's Blog

August 23, 2014

Songs of the 1970s – my favourites – 75

Filed under: Music — Porcupyn @ 11:59 pm

bahut duur mujhe chale jaanaa hai – lyrics from giitaayan

ल: बहुत दूर मुझे चले जाना है
बहुत नज़दीक मुझे आना है
तेरी बाँहों में मुझे आज मर जाना है ) -2

कि: किसीको इस जगह पे नहीं आना है
किसीको इस जगह से नहीं जाना है
तेरी बाँहों में मुझे आज मर जाना है

जाने मिले या न मिले फिर ऐसी तनहाई
दिल की लगी लेने लगी सीने में अँगड़ाई
ल: हो मुझको छुपाले दिल में बसाले देख बुरा ये ज़माना है ऊ ऊ ऊ
कि: किसीको इस जगह पे नहीं आना है
किसीको इस जगह से नहीं जाना है
ल: ओ तेरी बाँहों में मुझे आज मर जाना है

कि: क्या ज़िंदगी कट जाएगी बस तेरी यादों में
ये रात भी ढल जाएगी क्या यूँ ही वादों में
ल: हो अरमान निकले या जान निकले प्यार मेरा दीवाना है ऊ ऊ ऊ
कि: किसीको इस जगह पे नहीं आना है
किसीको इस जगह से नहीं जाना है
ल: हो तेरी बाँहों में मुझे आज मर जाना है

ल: मेरे बदन मे ओ सजन जागी इक चिनगारी
फुँक जाएगी जल जाएगी इस में दुनिया सारी
कि: इस को बुझा दे शोला बना दे कहता ये परवाना है ऊ ऊ ऊ

ल: बहुत दूर मुझे चले जाना है
बहुत नज़दिक मुझे आना है
दो: तेरी बाँहों में मुझे आज मर जाना है
ऊ ऊ ऊ …
तेरी बाहों में मुझे आज मर जाना है

Leave a Comment »

No comments yet.

RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Create a free website or blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: