Porcupyn's Blog

September 5, 2014

Songs of the 1970s – my favourites – 88

Filed under: Music — Porcupyn @ 11:59 pm

bhalii-bhalii sii ek suurat bhalaa saa ek naam – lyrics from giitaayan

कि: भली-भली सी एक सूरत भला सा एक नाम
धड़कन है मेरे दिल कि सुबह हो या शाम
आ: कौन है वो दिलरुबा, अरे कहो ना हमसे ज़रा
कि: … तुम हो वो दिलरुबा
आ: भली-भली सी एक सूरत भला सा एक नाम
धड़कन है मेरे दिल कि सुबह हो या शाम

आ: हुई मेरे भी जिया की चोरी
कि: अच्छा?
आ: अरे हाँ उस चोर की शकल है गोरी
कि: तो क्या हुआ?
आ: हो गया मिलना बहुत ज़रूरी
कि: (alarmed) चल पगली!
आ: फिर सुनो तो आगे हमारी दिल की मजबूरी तु तु तु
वो जो मेरे करीब आया
कि: ओ हो
आ: मेरे तन पे पड़ा जो साया
कि: (फत्(?) गयी!) फिर क्या हुआ?
आ: यूँ समझो न गले लगाया
कि: (disgusted) छी छी छी
आ: तब से सोती हूँ जागती हूँ लेके उसका नाम
कि: कौन हैं वो दिलरुबा कहो न हमसे ज़रा
आ: … तुम हो वो दिलरुबा
कि: भली-भली …

कि: हाय मुश्क़िल हैं मेरा भी जीना
आ: ह… म …
कि: सोचूँ तो आता हैं पसिना
आ: बाप-रे!
कि: (pure fantasy) कल मैने देखी अजब हसीना
आ: ह… म …
कि: प्यार मे उसके धड़के मेरा दिल जलता है सीना
धक धक धक
पास वो आई बड़ी अदा से
आ: हा!
कि: बोली क्यूँ हो खफ़ा-खफ़ा से
आ: हाय मर जाऊँ
कि: हम भी थे एक नज़र के प्यासे
आ: क्यूँ नहीं?
कि: (hallucinating now)
दिल पे उसने जो हाथ रखा आ गया आराम
आ: कौन हैं वो दिलरुबा कहो न हमसे ज़रा
कि: … तुम हो वो दिलरुबा
आ: भली-भली …

Leave a Comment »

No comments yet.

RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: